राजमहल की हिंदी कहानी, (Rajmahal hindi story), यह कहानी राजमहल की है जो बहुत समय से बंद पड़ा हुआ था, उसमे एक दिन कुछ आदमी किसी काम से रहने आ जाते है उसके बाद उन्हें वहा से भागना पड़ता है यह कहानी आपको पसंद आएगी

जब रात हुई तो वह सभी सो गए थे, आधी रात बीत चुकी थी, तभी उस महल के सामने एक आदमी आता है वह कहता है की इस महल से वापिस चले जाओ, क्योकि यह महल शापित है, कोई भी उसकी बात को नहीं सुन रहा था, क्योकि सभी लोग सोये हुए थे, तभी उस आदमी ने किसी को महल की छत पर देखा था, मगर वह महल में क्या कर रहा था, उसकी छत पर कौन था वह आदमी वहा से भाग रहा था तभी महल के कसी आदमी ने उसे भागते हुए देखा था, इसलिए जब सुबह हुई तो वह उस आदमी को देखने के लिए चला गया था,

वह आदमी वहा पर क्यों आया था, इसलिए यह भी पता लगाना था कुछ समय बाद ही ही उस आदमी का पता चल गया था, वह आदमी हमेशा ही घूमता रहता था, उस आदमी से पूछा गया की तुम वहा पर क्या कर रहे थे वह आदमी कहने लगा की वह राजमहल अच्छा नहीं है उस पर किसी भूत का साया है, में जब यही बता रहा था तो मेने राजमहल की छत पर एक साया देखा था, रात के समय में वह छत पर खड़ा था इसलिए मुझे वहा से भागना पड़ा था आपको भी यहां से चले जाना चाहिए,

मेने आपको अपनी बात कह दी है, इसलिए आपको ध्यान रखना चाहिए आपको वहा पर ज्यादा दिन नहीं रुकना चाहिए वह किसी को भी नुक्सान पहुंचा सकता है. लेकिन वह आदमी उसकी बात पर विश्वास नहीं कर रहा था क्योकि वह इन सब बातो पर यकीन नहीं करता है इसलिए उसने कहा की भूत नहीं होते है, तुम यह कैसे कह सकते हो, की भूत होते है, तभी वह आदमी कहने लगा की आपको यह बात पता नहीं है, इसलिए आप कह रहे हो की भूत नहीं होते है, मगर भूत होते है, यह बात आपको जल्द ही पता चल जायेगी,

ऐसा कह कर वह चला गया था, जब वह आदमी घर आया तो सोचने लगा की शायद उसकी बात में कोई सच्ची बात हो, इसलिए हमे पता लगाना चाहिए की यहां पर क्या है और वैसे भी हमे यहां से जल्द ही चले जाना है, उसने सभी कमरों में कुछ कैमरे लगा दिए थे जिससे भूत को देखा जाए, सभी जगह पर कैमरे काम कर रहे थे जब रात हुई तो कुछ कैमरे में अजीब परछाई नज़र आ रही थी, ऐसा कुछ भी देखा नहीं गया था, मगर ऐसा देखना भी कुछ बातो की और इशारा कर रहा था,

इन सभी बातो से ऐसा लग रहा था की सच में कुछ ऐसा है, जिसके बारे में हमे पता नहीं है लेकिन यह सभी बाते हमे कुछ बता रही थी, हमे सोचने पर मजबूर कर रही थी, ऐसा जब पता चल तो सभी को इस बारे में बताया गया था मगर कुछ ने विश्वास किया था कुछ नहीं कर रहे थे, क्योकि इन पर विश्वास करना मुश्किल था, जब अगली रात हुई तो उनमे से एक घूम रहा था शायद उसे नींद नहीं आ रही थी, उसने किसी को छत पर देखा था, वह भी कोई परछाई नज़र आ रही थी

जैसा की उन्होंने ने उस कैमरे में देखा था, इसका मतलब यह है कि यहां पर कुछ तो है जो अच्छा नहीं है इससे पहले की यहां कुछ बुरा हो जाए तो हमे यहां से चले जाना चाहिए जब सबने यही बात की यहां पर रुकना ठीक नहीं है तो जाने के अलावा कोई रास्ता नहीं था, मगर अभी एक दिन का काम रह गया था अगर वह हो जाता है तो हम यहां से चले जाएंगे इसका मतलब एक दिन और बढ़ गया था यह परेशानी एक दिन हमे जरूर झेलनी थी, अब कुछ भी नहीं हो सकता था,

अगला दिन हुआ और सभी ने इस बारे में बात करनी शरू हो गयी थी, तभी मौसम बदला और अचानक ही बारिश शरू हो गयी थी, शायद ऐसा लग रहा था की बारिश का मौसम था नहीं, मगर बारिश हो रही थी, बारिश में भीगता हुआ एक आदमी राजमहल में आया था उसने बताया की आपका काम आज भी नहीं होगा, क्योकि मौसम खराब हो गया है इस काम में अभी काफी समय लग सकता है उनमे से एक बोला की कोई शायद यह नहीं चाहता है की हम यहां से जा पाए, इसलिए कोई भी काम नहीं हो रहा है,

आज मौसम से यह काम रुक गया है हम सभी ऐसा करते है की यह काम फिर कभी देखा जाएगा हमे यहां से चले जाना चाहिए जिससे कोई परेशानी न होने पाए, सभी को यह बात सही लग रही थी क्योकि अब वहा पर कोई रुकना नहीं चाहता था, सभी ने जब ऊपर देखा तो कोई ऊपर की खिड़की में बैठा हुआ था जबकि सभी लोग नीचे ही थे उस जगह पर कौन हो सकता था, जब वह सभी ऊपर गए तो वहा पर कोई भी नहीं था अब रुकना ठीक नहीं है सभी लोग वहा से जल्दी में ही निकला गए थे

क्योकि यहां पर रुकना मतलब कुछ भी हो सकता था, उसके बाद वहा पर कोई वापिस नहीं आया था किसी को कुछ भी पता नहीं था की वहा क्या हुआ था, क्यों यह सब हो रहा है, शायद इनका जवाब अभी मिलना बाकी है राजमहल की हिंदी कहानी, Rajmahal hindi story, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आगे भी शेयर करे और हमे भी बताये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here