जीवन में खोजना सीखे कहानी | Motivational Story Hindi

जीवन में खोजना सीखे कहानी | Motivational Story Hindi

जीवन में खोजना सीखे कहानी, motivational story in hindi, यह कहानी हमे कुछ बताती है, जिससे हम जीवन में थोड़े साधन से ही आगे बढ़ सकते है, यह कहानी आपको जरूर पसंद आएगी,
जीवन में खोजना सीखे कहानी : motivational story in hindi

उस आदमी के पास एक बंदर था, वह उसी बंदर के साथ रहता था, बंदर और वह आदमी हमेशा साथ में रहते थे, जब कुछ भी त्यौहार होता था, तो वह बंदर के लिए भी हमेशा कुछ-न-कुछ लाया करता था, बंदर और वह आदमी अकेले ही रहते थे, उस आदमी को बंदर रखना अच्छा लगता था वह बंदर का खेल नहीं दिखाया करता था बल्कि उसका मानना था की बंदर हमेशा अच्छे होते है, इसलिए वह बंदर को साथ में रखता था, उसका एक छोटा सा खेत भी था,

जिससे वह अपनी खेती करके हमेशा घर चलाया करता था, जब भी वह बंदर को लेकर जाता था तो उसके लिए हमेशा खाने में जरूर ले जाता था मगर एक दिन ऐसा भी हुआ था की उसके पास कुछ भी खाने को नहीं था वह बंदर को साथ में लेकर जा रहा था जब वह अपने खेत पर पहुंचा तो वह काम में लग गया था आज उसके पास खाने को कुछ भी नहीं था क्योकि ऐसा भी हो जाता था की उसे खाना नहीं मिलता था वक़्त जैसा भी हो वह बंदर के लिए जरूर कुछ बचा लेता था

मगर अजा कुछ भी नहीं बचा पाया था, वह अपने खेत पर काम कर रहा था तभी उसे ध्यान आया की उसे भूख लग रही है, मगर वह यह भी जानता था, की बंदर को भी भूख लग रही होगी, वह क्या करे उसे कुछ भी समझ नहीं आता था, वह सोचने लगा की शायद पास के बाग़ में कुछ फल लगे होने तो वह बंदर के लिए ला सकता है ऐसा सोचकर वह पास के बाग़ में चला गया था उसने सभी पेड़ो को देखा था कुछ पेड़ पर फल लगे हुए थे वह उनके पास गया था और कुछ फल ले लिए थे,

उन सभी फलो को लेकर चला आया था कुछ देर बाद वह बंदर के पास गया और उसे फल खाने को दिए थे बंदर यह भी जानता था की आज वह आदमी भी भूखा है बंदर ने कुछ फल उस आदमी को भी दिए थे दोनों ने साथ में फल खाये और काम खत्म करके घर की और चले आये थे, जब घर पहुंचे तो वह आदमी कुछ खाने के लिए गांव में चला गया था आज शाम हो गयी थी मगर उसे बहुत मुश्किल से खाना मिल पाया था उसे पता था की मुसीबत ऐसे खत्म नहीं होगी, उसे कुछ करना ही होगा,

था की वह किसी से खाने को कहे मगर उसे पता था की अगर ऐसा नहीं हुआ तो मुश्किल बहुत ज्यादा बढ़ जायेगी, उसके पास ज्यादा खेती नहीं थी, मगर उनका गुजारा चल जाता था उसकी खेती में सब्जियां हुआ करती थी जिन्हे बेचकर वह घर खर्च चला रहा था वह यही सोच रहा था की अगर में यह सब्जियां शहर में जाकर बेचता हु तो मुझे फायदा हो सकता है, गांव में बेचने पर कुछ भी नहीं मिलता है,

यही सोचकर वह शहर की और चल पड़ा था शहर गांव से बहुत दूर था मगर उसे कुछ करना है तो थोड़ी मुसीबत तो उठानी पड़ेगी, वह बंदर को साथ में लेकर चला जा रहा था जब वह शहर पूछा तो उसे पता चल गया था की शहर में उसे अच्छे दाम मिलते है मगर शहर तक सफर बहुत ज्यादा है वह उसे आसानी से तय नहीं कर पायेगा, उसे शहर जाने में लगभग तीन घंटे लगते है और आने में भी बहुत समय लग जाता है उसे फायदा तो हो रहा था मगर साथ में बहुत देर का सफर भी तय करना पड़ रहा था

जब शाम हुई तो वह दोनों घर आ गए थे, उसके बाद उन्हें यह भी पता था की उन्हें बहुत फायदा हुआ था मगर आने में बहुत समय लग जाता है जिसके बाद वह थक गए थे, उन्हें कुछ ऐसा करना था जिससे उन्हें हर रोज शहर भी जाना पड़े और उसके बाद वह सफर भी जायद न लग पाए मगर थोड़े विचार के बाद उसने एक सायकिल ले ली थी, उसी पर वह सारा सामान ले जाकर बेचना उचित समझा था, उसके बाद वह शहर चले गए थे जो पैदल चलकर समय लगता था, उससे बहुत कम समय उसे सायकिल से लगा था,

उन्हें अब समझ आ गया था की यह विचार अच्छा है इससे उन्हें काफी समय भी बच जाता था और उन्हें बहुत अच्छा मुनाफा भी हो रहा था अब उनके हालात पहले से भी अच्छे लग रहे थे बंदर और वह आदमी अब बहुत खुश नज़र आ रहे थे, जबकि उन्हें अपना थोड़ा दिमाग लगाना था जिससे वह अपने हालात अच्छे कर पाए थे जबकि सब कुछ उनके पास पहले जैसा था उन्होंने ने कुछ बदलाव किया था उसके बाद वह अच्छा अनुभव प्राप्र्त कर पाए थे, इस कहानी से आपको क्या समझ आता है पहले हम यह समझने की पूरी कोशिश करते है

हमारे पास सब कुछ होता है सभी साधन हमारे पास होते है मगर हम उन्हें देख नहीं पाते है अगर हम अपने आपको समझाये की हम सब कुछ कर सकते है तो हम बहुत कुछ कर सकते है आपको यह लगता होगा की हमारे पास सभी साधन नहीं है मगर यह सोचना भी आपका काम है की आपके पास जो भी है उससे आप बहुत अच्छा कर पाते है हमे उसे प्रयोग करने की जरूरत होती है, जब हम अच्छा सोच पाते है तो हम अच्छा कर पाते है,

लेकिन हमे उस तरफ बिलकुल भी नहीं जाना चाहिए जिस जगह पर हम सिर्फ यही सोचते है की हमारे पास यह होता तो बहुत अच्छा होता, या अगर हमे वह मिल जाए तो हम कामयाब हो सकते है, ऐसा सोचना ही हमे आगे बढ़ने नहीं देता है, इसलिए अच्छा सोचो और देखो की आपके पास क्या है, और आप उससे क्या कर सकते है, जीवन में खोजना सीखे कहानी, motivational story in hindi, अगर आपको यह कहानी पसंद आयी है तो आप इसे शेयर जरूर करे,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *