Category: Moral Stories

शिक्षाप्रद बाल कहानी : झूठी शान न दिखाओ…

उल्लू की झूठी शान ने ली परम मित्र की ‘जान’  एक जंगल में पहाड़ की चोटी पर एक किला बना था। किले के एक कोने के साथ बाहर की ओर एक ऊंचा विशाल देवदार का पेड़ था।...

चटपटी बाल कहानी : असली इनाम

सड़क के इस पार 5 कुत्ते के पिल्ले झुंड में एक-दूसरे से सटे हुए बड़ी ही गुमसुम मुखमुद्रा में बैठे थे। आखिर वजह भी तो वैसी ही थी ना! बात यूं थी कि सड़क के...

बाल साहित्य : बेवकूफ गधे की फनी कहानी

पुराने समय की बात है। एक जंगल में एक शेर रहता था। गीदड़ उसका सेवक था। जोड़ी अच्छी थी। शेरों के समाज में तो उस शेर की कोई इज्जत नहीं थी, क्योंकि वह जवानी में सभी दूसरे...

चटपटी बाल कहानी : मीठूराम की परेशानी

जानिए रात को क्यों गाने लगा मीठू तोता   एक तोता था मीठूराम। पिंजरा ही मीठूराम का घर था और वही उसकी दुनिया। मीठूराम की आवाज बड़ी अच्छी थी पर वह सिर्फ रात को ही गाता था।...

लघु बाल कहानी : हाथी और बंदर

एक हाथी था। उसका मित्र बंदर था। लेकिन एक दिन उन दोनों की मित्रता टूट गई। तो हाथी और बंदर अलग-अलग हो गए। एक दिन बंदर ने हाथी को चिढ़ाया। वह बोला- ‘लंबी सूंड सूपा जैसे कान,...